Android Mobile Aur Windows Mobile Phone Me Kya Antar Hai Hindi Me Jankari



सुचना क्रांति के इस दौर ने हर हाथ में मोबाइल फोन पंहुचा दिया है। मोबाइल ने भी काफी विकास कर लिया है और वह स्मार्ट फोन बन चूका है। जब से बाजार में स्मार्ट मोबाइल फोन्स का दौर चला है तब से एक चर्चा और भी चली है एंड्राइड फोन और विंडोज फोन। एंड्राइड फोन बेहतर कि विंडोज फोन। लोग अक्सर कन्फ्यूज्ड हो जाते हैं आखिर दोनों में अंतर क्या है?
स्मार्ट फोन को स्मार्ट बनाने के लिए उसे एक ओएस यानि ऑपरेटिंग 
सिस्टम की आवश्यकता होती है। यही ओएस उसे एंड्राइड या विंडोज फोन बनाता है। वास्तव में ओएस एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जो यूजर और हार्डवेयर के बीच एक इंटरफ़ेस का काम करता है। यही ओएस मोबाइल को यूजर फ्रेंडली बनाता है। ओएस की मदद से ही हम मोबाइल या कंप्यूटर चला पाते हैं। 

एंड्राइड मोबाइल फोन क्या है ?

वैसे मोबाइल फोन जिसमे ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम यानि एंड्राइड सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जाता है एंड्राइड मोबाइल कहलाते हैं। यह ओपन सोर्स कोड पर आधारित होता है जिसके लिए लाखों ऍप्लिकेशन्स उपलब्ध है।  

Android, Apps, Launcher, Applications

विंडोज मोबाइल फोन क्या है ?

वैसे स्मार्ट फोन जो सुचारु रूप से काम करने के लिए विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित होते हैं विंडोज फोन कहलाते हैं। यह एक क्लोज्ड सोर्स कोड पर आधारित सिस्टम होता है और इसमें केवल विंडोज के द्वारा ही ऍप्लिकेशन्स उपलब्ध कराये जाते हैं। 

Nokia, Lumina, Phone, Windows, Mobile

एंड्राइड और विंडोज मोबाइल में क्या अंतर है ?


  • ऐसे स्मार्ट फोन जो एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित हो एंड्राइड मोबाइल कहलाता है  
       जबकि विंडोज ओएस सिस्टम पर आधारित फोन विंडोज फोन कहलाते हैं। 

  • एंड्राइड गूगल का प्रोडक्ट है जबकि विंडोज के मालिक माइक्रोसॉफ्ट है। 

  • एंड्राइड 2008 में रिलीज़ हुआ जबकि विंडोज 2010 में रिलीज़ हुआ। 

  • एंड्राइड ओएस पर आधारित मोबाइल का मार्किट के 80 प्रतिशत हिस्से पर कब्ज़ा है 
       जबकि शेष बीस प्रतिशत में विंडोज और अन्य ओएस सिस्टम पर आधारित फोन आते हैं। 

  • एंड्राइड फोन में प्रोग्रामिंग के लिए जावा और C, C++ लैंग्वेज का प्रयोग किया जाता है जबकि विंडोज फोन में केवल C, C ++ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज यूज़ होता है। 

  • x 86, ARM, IMX,MIPS एंड्राइड मोबाइल का सपोर्टेड प्लेटफार्म होता है जबकि विंडोज फोन का सपोर्टेड प्लेटफार्म x86 होता है। 

  • एंड्राइड फोन का लाइसेंस Apache licence 2.0 Linux Kernel patches under GNU GPL v2 होता है जबकि विंडोज फोन का माइक्रोसॉफ्ट के कमर्शियल सॉफ्टवेयर होता है। 

  • एंड्राइड फोन यूनिक्स फ्लेवर्ड ओएस फॅमिली से सम्बंधित होता है जबकि विंडोज मोबाइल विंडोज ओएस फॅमिली का होता है। 

  • एंड्राइड फोन ओपन सोर्स पर आधारित होता है जबकि विंडोज फोन क्लोज्ड सोर्स कोड पर आधारित होता है। 



  • एंड्राइड में डिफ़ॉल्ट यूजर इंटरफ़ेस ग्राफिकल मल्टी टच होता है वहीँ  विंडोज में यह ग्राफिकल मेट्रो होता है। 

  • एंड्राइड फोन में नए अपडेट अलग अलग पार्टियों द्वारा किये जाते हैं जबकि विंडोज फोन के उपदटेस केवल माइक्रोसॉफ्ट  किये जाते हैं। 

  • एंड्राइड फोन में कोई भी अपना एप्प्स बना सकता है जबकि विंडोज फोन में एप्लीकेशन केवल माइक्रोसॉफ्ट ही बना सकती है। 


  • एंड्राइड फोन में दस लाख से भी ज्यादा ऍप्लिकेशन्स हैं जबकि विंडोज फोन में  संख्या बहुत कम है। 

  • एंड्राइड फोन गूगल सिंक जी मेल , कॉन्टेक्ट्स और गूगल कैलेंडर को सपोर्ट करता है जबकि विंडोज फोन आऊटलूक, मेल, एक्सचेंज, विंडोज मार्किट, कैलेंडर, कॉन्टेक्ट्स आदि को सपोर्ट करता है। 

Comments

Popular posts from this blog

आमंत्रण और निमंत्रण में क्या अंतर है

विकसित और विकासशील देशों में क्या अंतर है ?