CFL और LED बल्ब में क्या अंतर है



आज का दौर एलईडी का दौर है। एलईडी बल्बों ने जहाँ एक ओर बिजली की काफी मात्रा में बचत की है वही इन बल्बों ने मानव जाति को रौशनी का एक नया अनुभव भी दिया है। एलईडी बल्बों के पहले सीएफएल बल्बों का दौर था। इन दोनों बल्बों ने पुराने पीले बल्ब को घरो से लगभग हटा ही दिया है। हालाँकि दोनों बल्ब सामान्य बल्बों की तुलना में काफी महंगे हैं पर बिजली की बचत और प्रकाश की गुणवत्ता के दृष्टकोण से देखा जाय तो ये दोनों बल्ब काफी किफायती हैं। आईये देखते हैं दोनों में क्या अंतर है और कौन बेहतर है। 


CFL और LED  बल्ब में क्या अंतर है 




  • CFL का फुल फॉर्म होता है कॉम्पैक्ट फ्लोरोसेंट लाइट वहीँ LED का फुलफॉर्म होता है लाइट एमिटिंग डायोड।

  • सीएफएल जहाँ एक नलिकाकार, सर्पिलाकार बल्ब होता है वहीँ एलईडी सामान्य बल्ब की तरह ही दीखता है।

  • सीएफएल में जहाँ शीशे की नली का प्रयोग होता है वहीँ एलईडी में प्लास्टिक का कवर होता है।

  • सीएफएल में  शीशे की नलियों  में आर्गन गैस भरी होती है जिसमे मरकरी वाष्पीकृत करके मिश्रित किया रहता है इसके साथ ही इसमें बेरियम, टंग्स्टन, स्ट्रोंटियम, कैल्शियम ऑक्साइड का प्रयोग भी होता  हैं वहीँ एलईडी बल्ब में ऐसा कुछ नहीं होता। इसमें सेमीकंडक्टर मटेरियल का प्रयोग होता है जो मरकरी मुक्त होता है।



  • सीएफएल सामान्य बल्ब की तुलना में 80 प्रतिशत से ज्यादा बिजली की बचत करता है जबकि एलईडी 90 प्रतिशत से ज्यादा बिजली की बचत करता है।

  • सीएफएल प्रकाश का उत्सर्जन तब करते हैं जब इलेक्ट्रॉन डिस्चार्ज को एक आइओनाइज़्ड गैस से होकर भेजा जाता है जबकि एलईडी प्रकाश उत्सर्जन तब करता है जब विद्युत् धारा सेमीकंडक्टर से होकर प्रवाहित की जाती है।

  • सीएफएल बल्ब की उम्र 6000 से 15000 घंटे की होती है जबकि एलईडी बल्ब 50000 घंटे तक चल सकते हैं।

  • सीएफएल बल्ब को ऑन करने के बाद पूरी रौशनी तक पहुंचने में थोड़ा समय लगता है जबकि एलईडी बल्ब को ऑन करते हीं वह अपनी पूरी क्षमता से प्रकाशित होने लगता हैं।

  • सीएफएल अत्यंत कम तापमान पर काम नहीं करते हैं।  यही कारण  है इन्हे बाहर प्रकाश के लिए प्रायः नहीं प्रयोग किया जाता है। एलईडी किसी भी तापमान पर काम करता है। इसी वजह से इसे बाहर प्रकाश  के लिए खूब प्रयोग किया जाता है।

  • सामान्य बल्ब की तुलना में सीएफएल वही प्रकाश 15 से 18 वाट में दे देता है जबकि एलईडी बल्ब उतनी ही रौशनी 7 से 9 वाट में उत्पन्न करता है। 

  • सीएफएल बल्ब को डिस्पोज करने पर कई हानिकारक रसायन निकलते हैं जी मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। एलईडी बल्ब को डिस्पोज करने पर ऐसा कुछ नहीं होता है। 


Comments

Popular posts from this blog

Android Mobile Aur Windows Mobile Phone Me Kya Antar Hai Hindi Me Jankari

आमंत्रण और निमंत्रण में क्या अंतर है

विकसित और विकासशील देशों में क्या अंतर है ?