मर्चेंट नेवी क्या है, मर्चेंट नेवी और नेवी में क्या अंतर है



मर्चेंट नेवी क्या है 


मर्चेंट नेवी किसी देश में रजिस्टर्ड व्यापारिक जहाजों का बेडा होता है जिसके द्वारा उस देश का अंतर्राष्ट्रीय व्यापार होता है। मर्चेंट नेवी को मर्चेंट मरीन मर्केंटाइल मरीन भी कहा जाता है। व्यापारिक जहाज़ों पर विभिन्न रैंक के नाविकों और कई अन्य कर्मचारियों की आवश्यकता होती है। ये सभी कर्मचारी सामूहिक रूप से मर्चेंट नेवी के अंतर्गत आते हैं।
पहले पहल ब्रिटिश मर्चेंट शिपिंग बेड़े को प्रथम विश्व युद्ध के पश्चात किंग जॉर्ज पंचम के द्वारा 
मर्चेंट नेवी का ख़िताब दिया गया। इसके बाद से ही अन्य देश भी इस परंपरा को आगे बढ़ाते हुए अपने अपने व्यापारिक जहाजी बड़े को मर्चेंट नेवी के तौर पर उपाधि देना शुरू कर दिया। 


मर्चेंट नेवी में हर तरह के व्यापारिक जहाज चाहे वह समुद्री यात्री जहाज हो, मालवाहक जहाज हो या फिर तेल टैंकर वाले जहाज हो सकते हैं। इन जहाजों में परिचालन, तकनिकी रखरखाव, यात्रियों की सर्विस से सम्बन्धी कार्यों, माल लोडिंग, अनलोडिंग कई ऐसे कार्य हैं जहाँ कुशल कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ती है। इन कर्मचारियों की ट्रेनिंग बहुत ही विशेष होती है और अपने काम में पारंगत होने के बाद ही इन्हें जहाज पर जाने का मौका मिलता है। मर्चेंट नेवी का पैकेज 15000 रुपये प्रतिमाह से शुरू होकर सात आठ लाख रुपये प्रतिमाह तक हो सकता है। यह उनके पद और अनुभव के हिसाब से हो सकता है।
शुरू शुरू में डिग्री या डिप्लोमा होल्डर को भी छह माह से लेकर एक साल तक डेक कैडर के रूप में या प्रशिक्षु के तौर पर रखा जाता है।
मर्चेंट नेवी में जाने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए

मर्चेंट नेवी में करियर बनाने के इच्छुक युवाओं को यह जानना आवश्यक है कि इस क्षेत्र में दसवीं से लेकर बीटेक सभी के लिए करियर है। दसवीं पास छात्र मर्चेंट नेवी में डिप्लोमा जिसमे प्री सी ट्रेनिंग फॉर पर्सनल, डेक रेटिंग, इंजन रेटिंग,सलून रेटिंग आदि सब्जेक्ट होते हैं ,कर सकते हैं। 12 वीं विज्ञानं से करने वाले छात्र नॉटिकल साइंस, मरीन इंजीनियरिंग, स्नातक मैकेनिकल इंजीनियर का कोर्स कर सकते हैं। यदि ग्रेजुएशन में आपके पचास प्रतिशत अंक है और आपकी आयु अठाइस से कम है तो आप मर्चेंट नेवी के कई क्षेत्रों में जा सकते हैं। साथ ही आपका अविवाहित होना भी एक शर्त है। 



मर्चेंट नेवी में किन किन पदों पर नियुक्ति हो सकती है

मर्चेंट नेवी में कई पदों पर भर्ती होती है जिनमे से कुछ हैं 
  • रेडियो अफसर

  • इलेक्टिकल ऑफिसर
  • नॉटिकल सर्वेयर
  • पायलट ऑफ़ शिप
  • उप कप्तान
  • कप्तान
मर्चेंट नेवी की शिक्षा के प्रमुख संसथान


मर्चेंट नेवी की शिक्षा के लिए निम्न संस्थानों से संपर्क किया जा सकता है 
  • मेरीटाइम फाउंडेशन चेन्नई
  • इंडियन मेरीटाइम यूनिवर्सिटी चेन्नई
  • कोयमबटूर मरीन सेंटर कोयमबटूर
  • समुद्र इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैरीटाइम मुंबई
  • ट्रेनिंग शिप चाणक्य मुंबई
  • तोलानी मैरीटाइम इंस्टिट्यूट दिल्ली
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मरीन इंजीनियरिंग कोलकाता
  • महाराष्ट्र अकादमी ऑफ़ नेवल एजुकेशन एंड ट्रेनिंग पुणे


मर्चेंट नेवी और नेवी में क्या अंतर है 



  • मर्चेंट नेवी किसी देश के व्यापारिक जहाज़ों के बेड़े को कहा जाता है जबकि नेवी अर्थात नौसेना किसी देश के समुद्री सीमाओं की रक्षा के लिए नियुक्त सेना को कहा जाता है।
  • मर्चेंट नेवी प्रायः एक प्राइवेट संस्थान होता है है इसके कर्मचारी उसी संसथान के लिए काम करते हैं वहीँ किसी देश की नेवी उस देश की सरकार की सेना होती है और सभी नौसैनिक सरकारी कर्मचारी होते हैं।
  • मर्चेंट नेवी एक कॉन्ट्रैक्ट बेसिस की नौकरी होती है वहीँ नेवी की नौकरी एक फिक्स जॉब होती है और समय पर रिटायरमेंट होता है।
  • मर्चेंट नेवी सैलरी और सुविधाओं में मामले में कई बार नेवी की तुलना में बेहतर होती है।



    • मर्चेंट नेवी देश के आयात निर्यात के लिए जहाज़ों पर नियुक्त होते हैं वहीँ नेवी देश की सुरक्षा के लिए नियुक्त होते हैं।
    • मर्चेंट नेवी में ट्रेनिंग के बाद नौकरी मिलती है जबकि नौसेना में नौकरी ज्वाइन करने के बाद ट्रेनिंग पर भेजा जाता। है।
    दोस्तों इस प्रकार आपने देखा कि मर्चेंट नेवी मूलतः अंतराष्ट्रीय व्यापार के लिए जहाज़ों पर नियुक्त कर्मचारियों की टीम होती है। यह टीम परिचालन से लेकर तकनिकी, सुरक्षा, लोडिंग और अनलोडिंग जैसे कई कामों का कार्यान्यन करती है। आपने यह भी जाना मर्चेंट नेवी में जाने के लिए क्या क्या योग्यता होनी चाहिए और कहाँ से इसकी ट्रेनिंग ली जा सकती है। इसके साथ ही मर्चेंट नेवी और नेवी के बीच क्या अंतर है यह भी स्पष्ट हो गया होगा।

    Post a Comment

    0 Comments