सेंधा नमक और साधारण या समुद्री नमक में क्या अंतर है



पूरी दुनियां नमक की आपूर्ति के लिए या तो नमक के खदानों पर निर्भर है या फिर समुद्र और झीलों पर। दोनों ही स्रोतों से प्राप्त नमक हमारे भोजन को न केवल स्वादिष्ट बनाते हैं बल्कि हमारे शरीर में खनिजों की भी पूर्ति करते हैं। चट्टानी नमक जिसे आम बोलचाल की भाषा में सेंधा नमक भी बोला जाता है समुद्री नमक या साधारण नमक से गुणों में थोड़ा भिन्न होता है। अपने कुछ विशिष्ट गुणों की वजह से यह आयुर्वेदाचार्यों की पसंद तो होता ही है उपवास व्रत आदि में भी यह प्रयुक्त होता है। आज के इस पोस्ट में हम पढ़ेंगे सेंधा नमक क्या है तथा साधारण या समुद्री नमक क्या है और सेंधा नमक और साधारण नमक में क्या अंतर है

Salt, Hand, Food, White, Salt, Salt


सेंधा नमक क्या होता है 


सेंधा नमक जिसे सैंधव नमक या लाहौरी नमक भी कहा जाता है क्रिस्टल के रूप में पाया जाने वाला एक खनिज है। यह पाकिस्तान के सिंधु नदी के आस पास के हिमालयी क्षेत्रों में चट्टानों के रूप में पाया जाता है। इस नमक का रंग सफ़ेद, हल्का गुलाबी या बैगनी होता है जो प्रायः आयरन ऑक्साइड तथा कई अन्य खनिजों की उपस्थिति की वजह से होता है। 


Rock Salt, Halitit, Salt Rock

सेंधा नमक का आयुर्वेद में काफी महत्त्व दिया जाता है।माना जाता है कि उच्च रक्त चाप में इसका प्रयोग करने से कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता। हिन्दू पर्व त्योहारों में इस नमक का प्रयोग खाने के नमक की जगह किया जाता है। हाजमे के लिए प्रयोग में लाया जाने वाला काला नमक भी एक तरह का सेंधा नमक ही होता है।


सेंधा नमक पाकिस्तान के सिंध तथा पश्चिमी पंजाब के सिंधु नदी से लगे हिस्से खैबर पख्तूख्वा के कोहाट जिले से खनन किया जाता है। पश्चिम पंजाब में नमक कोह नामक पहाड़ी श्रृंखला में इसकी खानें हैं। इस इलाके में प्रसिद्ध खेवड़ा नमक की खान है। 


Lots Of Rock Salt, Rock, Salt, Pieces

सेंधा नमक को लाहौरी नमक हिमालियन साल्ट या हाइलाइट भी कहा जाता है। सेंधा नामक का रासायनिक नाम सोडियम क्लोराइड है। इसे तमिल में यिन्तुपू , तेलगु में रति अपूपु, गुजरती में सिंधु लुन और बंगाली में साइनधाव लवन कहा जाता है।



साधारण या समुद्री नमक किसे कहते हैं


जैसा कि नाम से स्पष्ट है समुद्री नमक या साधारण नामक समुद्र से प्राप्त किया जाता है। यह समुद्र जल के वाष्पीकरण के द्वारा प्राप्त किया जाता है। साधारण नमक का रंग प्रायः एकदम सफ़ेद होता है। किन्तु कई बार यह गुलाबी, हल्का काला या हरापन लिए हुए सफ़ेद होता है। नमक का रंग उसके निकलने वाले स्थान की प्रकृति पर निर्भर करता है। प्रायः ये रंग उसमे उपस्थित अन्य पदार्थों या अशुद्धियों की वजह से होता है। आमतौर पर घरों में यही नमक प्रयोग किया जाता है।
साधारण नमक का रासायनिक नाम सोडियम क्लोराइड होता है।


Salt, Mine, Saltworks, Saline, Mineral


साधारण नमक बनाने के लिए समुद्र, खारे पानी की झील आदि का प्रयोग किया जाता है। इसके लिए छोटे छोटे किन्तु छिछले गड्ढों या खेत का प्रयोग किया जाता है। इन गड्ढों में समुद्र या झील के पानी को इक्कट्ठा कर लिया जाता है जिनका धुप द्वारा वाष्पोत्सर्जन होता है। वाष्पोत्सर्जन के बाद इन खेतों में नमक बच जाता है। जिन्हें बाद में निकाल लिया जाता है। इस तरह से प्राप्त नमक में काफी अशुद्धियाँ होती हैं जिसे प्रोसेसिंग करके शुद्ध नमक प्राप्त किया जाता है।


सेंधा नमक और साधारण या समुद्री नमक में क्या अंतर है

  • सेंधा नमक हिमालय पर्वत की श्रेणियों में स्थित नमक की खानों से जो पाकिस्तान में स्थित है निकाला जाता है वहीँ साधारण या समुद्री नमक समुद्र या खारे पानी के झीलों से प्राप्त किया जाता है।
  • सेंधा नमक हलका गुलाबी रंग का होता है जो इसमें उपस्थित ऑक्साइड की उपस्थित की वजह से होता है वहीँ साधारण नमक गुलाबी, हल्का काला, हरापन लिए सफेद होता है। इसका यह रंग उसके निकाले जाने वाले स्थान की प्राकृत पर निर्भर करता है।

  • सेंधा नमक के क्रिस्टल एकदम शुष्क होते हैं परन्तु साधारण नमक के क्रिस्टल नम होते हैं।

  • सेंधा नमक सीधे चट्टानों से प्राप्त किया जाता है जबकि साधारण नमक को वाष्पोत्सर्जन द्वारा प्राप्त किया जाता है।
Salt, Production, Harvesting, Loading
  • सेंधा नमक भोजन से नमी को अवशोषित कर लेता है पर साधारण नमक उतना शीघ्र नमी अवशोषित नहीं कर पाता।

  • सेंधा नमक नमी अवशोषण करने के बाद आसानी से पिघल जाता है पर साधारण नमक जल्दी मेल्ट नहीं करता। इसकी वजह यह है कि यह जल्दी नमी को अवशोषित नहीं करता।

  • सेंधा नमक हमारे शरीर में तुरंत अवशोषित हो जाता है। इसका कारण यह है कि इसे पाचन की आवश्यकता नहीं होती वहीँ साधारण नमक को पाचन की आवश्यकता होती है। अतः यह हमारे शरीर में अपेक्षाकृत देरी से समाहित होता है।

  • सेंधा नमक हमारे शरीर में पानी के लेवल को बनाये रखता है जबकि साधारण नमक हमारे शरीर को डिहाइड्रेट करता है।
Chile, Salt Lake, Atacama, Nature
  • ऐसा माना जाता है कि सेंधा नमक उच्च रक्तचाप में लाभकारी है जबकि उच्च रक्तचाप में साधारण कम नुकसानदायक होता है।

  • हाजमे आदि बीमारी में सेंधा नमक लाभदायक होता है जबकि साधारण नमक नहीं।

  • उपवास और व्रत में सेंधा नमक का प्रयोग हो सकता है किन्तु उपवास या व्रत में साधारण नमक निषिद्ध है।




इस तरह हम देखते हैं कि सेंधा नमक और साधारण नमक दोनों अपने कुछ गुणों में एक दूसरे से काफी अलग हैं। जहाँ धार्मिक कृत्यों में सेंधा नमक स्वीकार्य होता है वहीँ साधारण नमक वर्ज्य होता है। इसी तरह सेंधा नमक अपने कुछ औषधीय गुणों की वजह से साधारण नमक पर भारी पड़ता है। शीघ्र घुलने के गुण की वजह से सेंधा नमक जहाँ सलाद आदि में उपयोगी होता है वहीँ डिहाइड्रेशन के गुण की वजह से साधारण नमक नमकीन,कुरकुरे,चिप्स आदि में ज्यादा उपयोगी होता है। अतः सेंधा नमक और साधारण नमक दोनों ही स्थान विशेष में उपयोगी और लाभकारी हैं।

Post a Comment

0 Comments