इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स में क्या अंतर है




दोस्तों हमारे दैनिक जीवन में अकसर दो शब्दों का प्रयोग होता है इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स। ये दोनों शब्द सुनने में इतने समान लगते हैं कि अक्सर हम इनमे फर्क नहीं कर पाते। यहाँ तक कि इनके फंक्शन और सोर्स भी समान होने की वजह से कई बार भ्रम की स्थिति पैदा हो जाती है और हम अंतर नहीं कर पाते। चुकि दोनों टर्म्स विद्युत् से सम्बंधित हैं और दोनों का प्रयोग किसी न किसी उपकरण चलाने के लिए किया जाता है अतः हमें दोनों में अंतर को समझना होगा। आइए देखते हैं दोनों में अंतर क्या है।

इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स दोनों में अंतर जानने के लिए सबसे पहले हमें दोनों की परिभाषाएं समझनी होंगी।

इलेक्ट्रिकल किस सन्दर्भ में प्रयोग होता है

विज्ञानं की वह शाखा जिसके अन्तर्गत विभिन्न माध्यमों में विद्युत् धारा के प्रवाह का और उस धारा के विभिन्न प्रभावों का अध्ययन किया जाता है, इलेक्ट्रिकल विज्ञानं के क्षेत्र में आता है। प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विद्युत् धारा को विभिन्न उपयोगी रूपों में जैसे प्रकाश, ऊष्मा,गति, आवाज आदि में परिवर्तित करना इलेक्ट्रिकल कहलाता है और इस तरह के उपकरण को इलेक्ट्रिकल डिवाइस कहते हैं। 


Twilight, Power Lines, Evening

इलेक्ट्रॉनिक्स किसे कहते हैं

इलेक्ट्रॉनिक्स विज्ञानं की वह शाखा है जिसमे विभिन्न माध्यमों जैसे निर्वात,गैस,धातु, सेमि कंडक्टर, नैनो पार्टिकल्स से होकर आवेश यानि एलेक्ट्रॉनों के प्रवाह और उनपर आधारित तमाम उपायों का अध्ययन किया जाता है। यह प्रौद्योगिकी का वह क्षेत्र है जिसमे विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक युक्तियाँ जैसे प्रतिरोध,कंडक्टर, इलेक्ट्रान ट्यूब, डायोड,ट्रांसिस्टर, आईसी आदि के इस्तेमाल कर के विद्युत् परिपथ का निर्माण करने तथा उनके द्वारा विद्युत् संकेतों को मैनिपुलेट करके तरह तरह की युक्तियाँ का अध्ययन और उनमे सुधार तथा उनसे नयी युक्तियों का निर्माण किया जाता है।

Background, Green, Board, Business, Chip


इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स में क्या अंतर है



  • विद्युत् ऊर्जा के उत्पादन, उपयोग और प्रबंधन से सम्बंधित क्षेत्र और कार्यों को इलेक्ट्रिकल के श्रेणी में रखा जाता है जबकि इलेक्ट्रॉनिक इलेक्ट्रॉनों के निर्वात, गैस, चालक और अर्ध चालक आदि माध्यमों में प्रवाह की वजह से बने उपयोगी डिवाइसों के अध्ययन से सम्बंधित विज्ञानं है।


  • इलेक्ट्रिकल बहुत कम आवृति वाली विद्युत् होता है जैसे घरों में 50 हर्ट्ज़ की AC सप्लाई जबकि इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में अपेक्षाकृत उच्च आवृति के सर्किट होते हैं।
Substation, Electricity, Current
  • इलेक्ट्रिकल डिवाइस में प्रायः तांबा या अल्मुनियम आदि धातुओं का प्रयोग एलेक्ट्रॉनों के प्रवाह के लिए होता है जबकि इलेक्ट्रॉनिक्स में सिलकोन, जर्मेनियम आदि सेमीकंडक्टर का प्रयोग होता है।

  • इलेक्ट्रिक सिस्टम में वोल्ट और विद्युत् पावर ज्यादा होता है जबकि इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम में विद्युत् शक्ति बहुत ही कम होती है जैसे 10 मिली वाट, 10 वाट आदि।
Smart Watch, Apple, Technology, Style
  • इलेक्ट्रिक उपकरण प्रायः AC विद्युत् पर आधारित होते है जबकि इलेक्ट्रॉनिक उपकरण प्रायः DC विद्युत् पर आधारित होते हैं।

  • इलेक्ट्रिकल डिवाइस विद्युत् धारा को ऊर्जा के किसी अन्य उपयोगी रूप में परिवर्तित कर देता है जैसे प्रकाश,ऊष्मा,गति,आवाज आदि जबकि इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस एलेक्ट्रॉनों के प्रवाह को नियंत्रित करके उसे किसी विशेष कार्य को करने के योग्य बनता है।

  • इलेक्ट्रिकल एलेक्ट्रॉनों का किसी माध्यम में प्रवाह होता है तो इलेक्ट्रॉनिक्स एलेक्ट्रॉनों के प्रवाह को नियंत्रित करने की तकनीक होती है।

  • इलेक्ट्रिकल उपकरणों बड़े और ज्यादा जगह घेरने वाले होते हैं जबकि इलेक्ट्रॉनिक उपकरण अपेक्षाकृत छोटे और कम जगह घेरने वाले होते हैं।

  • इलेक्ट्रिकल उपकरण किसी प्रकार के डाटा का संचरण या मैनुपुलेट नहीं करते जबकि इलेक्ट्रॉनिक उपकरण डाटा मैनुपुलेट करते हैं।

  • इलेक्ट्रिक उपकरणों से जानमाल को खतरा हो सकता है जबकि इस मामले में इलेक्ट्रॉनिक उपकरण सुरक्षित होते हैं।

  • इलेक्ट्रिकल का उपयोग यांत्रिक कामों के करने के लिए किया जाता है जबकि इलेक्ट्रॉनिक्स का प्रयोग सूचनाओं को डिकोड या कोड करने के लिए होता है।

  • इलेक्ट्रिकल उपकरण पंखा, हीटर, जनरेटर,ट्रांसफार्मर आदि हैं जबकि इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ट्रांजिस्टर ,डायोड आदि हैं।
Computer, Motherboard, Pc, Mother Board

इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक दोनों ही वास्तव में एलेक्ट्रॉनों के प्रवाह पर ही आधारित हैं किन्तु उनकी मात्रा और परिमाण में काफी अंतर होता है। कई ऐसे उपकरण होते हैं जिनमे इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक दोनों युक्तियों का प्रयोग किया जाता है।

Post a Comment

0 Comments