Posts

बार कोड तथा QR कोड में क्या अंतर है?

Image
दोस्तों आज के इस डिजिटल युग में अधिकांश काम मशीनों और कंप्यूटर की सहायता से निष्पादित किये जा रहे हैं। इससे न केवल काम तीव्र गति से हो रहे हैं बल्कि त्रुटिहीन भी हो रहे हैं। कंप्यूटर से वस्तुओं के फ़ास्ट लेन देन करने के लिए हर वस्तु पर एक कोड की आवश्यकता होती है। यह कोड प्रायः खड़ी लाइन में या चौकोर खाने के रूप में वस्तुओं और उत्पादों पर छपी रहती हैं। इन्हें बार कोड या QR कोड कहा जाता है। आइये आज हम जानते हैं कि ये बार कोड और QR कोड क्या होते हैं और उनमे क्या अंतर होता है ?
बार कोड क्या है? बार कोड एक ऐसा चिन्ह या कोड होता है जिसमे विभिन्न सूचनाओं को संगृहीत किया जाता है और जरुरत पड़ने पर उसे निकाला जा सकता है। यह सूचनाओं का लीनियर रिप्रजेंटेशन या रैखिक प्रस्तुतीकरण होता है जिसे ऑप्टिकल डिवाइस के माध्यम से रीड किया जाता है। बार कोड में संख्याएँ, चिह्न और अक्षर हो सकते हैं।  इन्हे कई वर्टीकल मोटी पतली पैरेलल रेखाओं के माध्यम से दर्शाया जाता है। इन लाइन्स के बीच दूरी कम ज्यादा हो सकती है। इसका मैट्रिक्स वन डायमेन्सन में होता है। 


बार कोड का सबसे पहले प्रयोग कमर्शियल कामों के लिए 1974 में किया…

LCD Aur LED TV Me Kya Antar Hota Hai Hindi Me Jankari

Image
LCD  vs  LED 
आज बाज़ार में तरह तरह के टीवी आ गए हैं। पुराने बड़े डब्बे वाले टीवी सेटों के दिन लद गए। आज का टीवी न केवल कम जगह लेता है बल्कि कम विद्युत् की भी खपत करता है और पुराने टीवी के मुकाबले आँखों को कम नुकसान भी पहुंचाता है। आधुनिक टीवी में पिक्चर क्वालिटी भी काफी अच्छी होती है और टीवी देखने का एक्सपेरिएंस अनूठा होता है। इन आधुनिक टीवी में एलसीडी, एलईडी प्लाज्मा टीवी मुख्य हैं। कई बार एलसीडी और एलईडी  टीवी दोनों एक लगते है किन्तु दोनों में फर्क होता है। दोनों में फर्क को जानने के पहले आईये देखते हैं एलसीडी और एलईडी टीवी क्या हैं ?


LCD टीवी क्या है 
 एलसीडी यानि लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले टीवी वास्तव में एलसीडी   मॉनिटर या स्क्रीन होता है। इसे पुराने डब्बे वाले टीवी का नया   अवतार भी कह सकते हैं। यह स्लिम और काफी हल्का होता है।   साधारण टीवी के मुकाबले यह बहुत ही कम बिजली खर्च करता है   तथा इसकी पिक्चर क्वालिटी भी काफी बेहतर होती है। इसमें फ्लैट   पैनल डिस्प्ले होता है। इसके स्क्रीन में लिक्विड क्रिस्टल का प्रयोग   इमेज तैयार करने में होता है। इसमें बैक लाइट से फ्लोरेसेंट बल्ब   द्वार…

CFL और LED बल्ब में क्या अंतर है

Image
आज का दौर एलईडी का दौर है। एलईडी बल्बों ने जहाँ एक ओर बिजली की काफी मात्रा में बचत की है वही इन बल्बों ने मानव जाति को रौशनी का एक नया अनुभव भी दिया है। एलईडी बल्बों के पहले सीएफएल बल्बों का दौर था। इन दोनों बल्बों ने पुराने पीले बल्ब को घरो से लगभग हटा ही दिया है। हालाँकि दोनों बल्ब सामान्य बल्बों की तुलना में काफी महंगे हैं पर बिजली की बचत और प्रकाश की गुणवत्ता के दृष्टकोण से देखा जाय तो ये दोनों बल्ब काफी किफायती हैं। आईये देखते हैं दोनों में क्या अंतर है और कौन बेहतर है। 


CFL और LED  बल्ब में क्या अंतर है 




CFL का फुल फॉर्म होता है कॉम्पैक्ट फ्लोरोसेंट लाइट वहीँ LED का फुलफॉर्म होता है लाइट एमिटिंग डायोड।
सीएफएल जहाँ एक नलिकाकार, सर्पिलाकार बल्ब होता है वहीँ एलईडी सामान्य बल्ब की तरह ही दीखता है।
सीएफएल में जहाँ शीशे की नली का प्रयोग होता है वहीँ एलईडी में प्लास्टिक का कवर होता है।
सीएफएल में  शीशे की नलियों  में आर्गन गैस भरी होती है जिसमे मरकरी वाष्पीकृत करके मिश्रित किया रहता है इसके साथ ही इसमें बेरियम, टंग्स्टन, स्ट्रोंटियम, कैल्शियम ऑक्साइड का प्रयोग भी होता  हैं वहीँ एलईडी बल्ब म…

Android Mobile Aur Windows Mobile Phone Me Kya Antar Hai Hindi Me Jankari

Image
सुचना क्रांति के इस दौर ने हर हाथ में मोबाइल फोन पंहुचा दिया है। मोबाइल ने भी काफी विकास कर लिया है और वह स्मार्ट फोन बन चूका है। जब से बाजार में स्मार्ट मोबाइल फोन्स का दौर चला है तब से एक चर्चा और भी चली है एंड्राइड फोन और विंडोज फोन। एंड्राइड फोन बेहतर कि विंडोज फोन। लोग अक्सर कन्फ्यूज्ड हो जाते हैं आखिर दोनों में अंतर क्या है? स्मार्ट फोन को स्मार्ट बनाने के लिए उसे एक ओएस यानि ऑपरेटिंग  सिस्टम की आवश्यकता होती है। यही ओएस उसे एंड्राइड या विंडोज फोन बनाता है। वास्तव में ओएस एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जो यूजर और हार्डवेयर के बीच एक इंटरफ़ेस का काम करता है। यही ओएस मोबाइल को यूजर फ्रेंडली बनाता है। ओएस की मदद से ही हम मोबाइल या कंप्यूटर चला पाते हैं। 
एंड्राइड मोबाइल फोन क्या है ? वैसे मोबाइल फोन जिसमे ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम यानि एंड्राइड सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जाता है एंड्राइड मोबाइल कहलाते हैं। यह ओपन सोर्स कोड पर आधारित होता है जिसके लिए लाखों ऍप्लिकेशन्स उपलब्ध है।  
विंडोज मोबाइल फोन क्या है ? वैसे स्मार्ट फोन जो सुचारु रूप से काम करने के लिए विंडोज ऑपरेट…

आमंत्रण और निमंत्रण में क्या अंतर है

किसी भी भाषा में कई शब्द ऐसे होते हैं जो सुनने या देखने में एक सामान लगते हैं। यहाँ तक कि व्यवहार में भी वे एक सामान लगते हैं। और कई बार इस वजह से उनके प्रयोग में लोग गलतियां कर बैठते हैं। आमंत्रण और निमंत्रण भी इसी तरह के शब्द हैं। अकसर लोगों को आमंत्रण की जगह निमंत्रण और निमंत्रण की जगह आमंत्रण का प्रयोग करते हुए देखा जाता है। हालांकि दोनों के प्रयोग में मंशा किसी को बुलाने की ही होती है अतः लोग अर्थ समझ कर उसी तरह की प्रतिक्रिया करते हैं अर्थात उनके यहाँ चले जाते हैं और कोई बहुत ज्यादा परेशानी नहीं होती है। किन्तु यदि शब्दों की गहराइयों में जाया जाय तो दोनों शब्दों में फर्क है और दोनों के प्रयोग करने के अपने नियम और सन्दर्भ हैं। 

आमंत्रण और निमंत्रण में क्या अंतर है

आमंत्रण और निमंत्रण दोनों शब्दों में मन्त्र धातु का प्रयोग किया गया है जिसका अर्थ है मंत्रणा करना अर्थात बात करना या बुलाना होता है परन्तु "आ" और "नि" प्रत्ययों की वजह से उनके अर्थों में थोड़ा फर्क आ जाता है। 



इन दोनों में अंतर को शब्दकल्पद्रुम शब्दकोष से अच्छी तरह समझा जा सकता है 
"अत्र यस्याकारणे प…

अस्त्र और शस्त्र में क्या अंतर है हिंदी में जानकारी

Image
प्राचीन हिन्दू ग्रंथों एवं पुराणों में बहुत सारे युद्धों का वर्णन मिलता है। इन युद्धों में कई तऱह के हथियारों के प्रयोग का जिक्र हुआ है जैसे धनुष बाण, गदा, सुदर्शन चक्र, ब्रह्मास्त्र आदि। हथियारों का वर्णन करते समय प्रायः इनके लिए सामूहिक रूप से अस्त्र या शस्त्र का प्रयोग किया जाता था। वर्तमान युग में भी हथियारों की चर्चा करते समय प्रायः हम अस्त्र या शस्त्र शब्द का प्रयोग करते हैं। वास्तव में अस्त्र एवं शस्त्र हम किसी भी हथियार को नहीं कह सकते। दोनों शब्दों में अंतर है। हथियारों की प्रकृति के आधार पर उन्हें अस्त्र या शस्त्र कहा जाता है।


विकसित और विकासशील देशों में क्या अंतर है ?

Image
समाचारपत्रों, पत्रिकाओं और रेडियो टीवी न्यूज़ में जब भी किसी देश की चर्चा होती है तब एक शब्द अकसर प्रयोग किया जाता है विकसित देश या विकासशील देश। भारत के सन्दर्भ में अकसर विकासशील शब्द का प्रयोग किया जाता है। विकसित और विकासशील शब्दों से कुछ बातें तो समझ में आ ही जाती है कि वैसे देश जो काफी विकसित हैं उनको विकसित देश तथा वे देश जो विकास की प्रक्रिया में हैं उनको विकासशील देश कहा जाता है किन्तु आईये देखते हैं दोनों में बुनियादी अंतर क्या है।
संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा विश्व के देशों को उनकी मानव विकास सूचकांक HDI ,जीडीपी, प्रति व्यक्ति आय, जीवन स्तर, शिक्षा का स्तर, मृत्यु दर आदि के आधार पर दो वर्गों में बांटा गया है विकसित  देश और विकासशील देश। विकसित देशों में प्रति व्यक्ति आय अधिक होने की वजह से जीवन स्तर उच्च होता है।  बेरोजगारी, भुखमरी, कुपोषण आदि समस्याएं प्रायः नहीं होती है। ऐसे देशों में आधारभूत संरचनाओं का जाल बिछा होता है और ये देश औद्योगीकरण के मामले में भी काफी समृद्ध होते हैं। अमेरिका, जापान, फ्रांस, जर्मनी आदि इन्हीं देशों की श्रेणी में आते हैं।
विकासशील देश ठीक इसके उलट कई …