पर्वत और पहाड़ी में क्या अंतर है

What is the difference between a Mountain and a Hill


पहाड़ और पहाड़ी में क्या अंतर है 


पर्वत या पहाड़ और पहाड़ियां पृथ्वी की महत्वपूर्ण स्थलाकृतियां हैं। ये सामान्य भूमि से ऊँचे चट्टानों और मिटटी से बने भूभाग होते हैं। पर्वत या पहाड़ मानव के लिए आवश्यक और उपयोगी भी होते हैं। ये किसी स्थान की जलवायु, वर्षा, वनस्पति और रहन सहन और कई अन्य चीज़ों को प्रभावित करते हैं। सामान्य तौर पर पहाड़ और पहाड़ी में कोई फर्क नहीं होता है दोनों ही आसपास की भूमि से काफी ऊँचे होते हैं किन्तु भौगोलिक दृष्टि से देखा जाय तो दोनों में कई ऐसी बातें हैं जो इन्हें अलग करती हैं।आज के इस पोस्ट के माध्यम से आईये देखते हैं पहाड़ और पहाड़ी किसे कहते हैं और पहाड़ और पहाड़ी में क्या अंतर है 


पर्वत या पहाड़ क्या है


पर्वत भूमि का ऐसा भाग होता है जो कि निकट के धरातल से अत्यधिक ऊंचाई में उठा होता है उसे हम पर्वत कहते हैं पर्वत किसी भी पहाड़ी से ऊंचा सीधी चढ़ाई वह वाला मिट्टी और चट्टानों का उठा भाग होता है।

ऑक्सफ़ोर्ड डिक्शनरी में पर्वत की परिभाषा देते हुए बताया गया है कि 



“A large natural elevation of the earth’s surface rising abruptly from the surrounding level; a large steep hill.”

वहीँ विक्शनरी के अनुसार



 “A large mass of earth and rock, rising above the common level of the earth or adjacent land, usually given by geographers as above 1,000 feet in height (or 304.8 meters), though such masses may still be described as hills in comparison with larger mountains.”

Mount Everest, Himalayas, Nuptse, Lhotse

वास्तव में आसपास की भूमि से ऊपर उठे हुए भाग जिसका निर्माण टैक्टोनिक प्लेटों के स्थानांतरित होने से या आपस में टकराने से या फिर ज्वालामुखी विस्फोट से होता है, पर्वत कहलाता है। पर्वत काफी ऊँचे होते हैं और इनकी ऊंचाई प्रायः 2000 फ़ीट से ऊपर होती है। पर्वतों की ढालें एकदम खड़ी होती है और इनके उच्चतम स्थान को शिखर या छोटी कहते हैं। अधिकांश पर्वतों की चोटियां बर्फ से ढकी होती हैं।


पर्वत कई प्रकार के होते हैं


वलित पर्वत

ब्लॉक पर्वत

ज्वालामुखी पर्वत

अवशिष्ट पर्वत 


Man, Wilderness, Nature, River, Mountain


पहाड़ी या हिल क्या है


पहाड़ी भी देखने में बिल्कुल पर्वत की तरह होते हैं किन्तु पहाड़ी पर्वत से कम ऊंचाई की होती हैं। पहाड़ी आसपास के मैदानी क्षेत्रों की तुलना में ऊँची होती हैं। पहाड़ी का क्षेत्रीय विस्तार कम होता है।

ऑक्सफ़ोर्ड डिक्शनरी में पहाड़ी या हिल की परिभाषा देते हुए कहा गया है


“A naturally raised area of land, not as high or craggy as a mountain., a flock of ruffs”

जबकि विक्शनरी में पहाड़ी को इस रूप में परिभाषित किया गया है 


“An elevated location smaller than a mountain.”

पहाड़ी स्थानीय क्षेत्रों की तुलना में ऊँची , गोलाकार स्थलाकृति होती है। भौगोलिक विशेषज्ञों के अनुसार आस पास की भूमि से ऊँचा कोई भी क्षेत्र पहाड़ी कहलाती है जिसकी ऊंचाई 2000 फ़ीट से कम हो तथा ढाल भी अपेक्षाकृत खड़ी न हो। पहाड़ी की जलवायु आसपास के क्षेत्रों के अनुसार ही होती है और इन पर मानव बस्तियां खूब पायी जाती हैं। यहाँ सभी प्रकार के जंतु और वनस्पतियां पायी जाती हैं।


Hill, Tree, Drumlin, Landscape, Hill


पहाड़ियों का निर्माण ग्लेशियरों द्वारा जमा की गयी मिटटी, पर्वतों के अपरदन, घर्षण, टूट, विस्फोट आदि से होता है। पहाड़ियां प्रायः मिटटी या चट्टानों की ढेर होती हैं। 

Landscape, Hill, Mountain, Outdoor


पहाड़ियों के शिखर प्रायः गोलाकार होते है। कई बार तो ये स्पष्ट नहीं होते हैं।



पर्वत और पहाड़ी में क्या अंतर है



What is the difference between a Mountain and a Hill



  • पर्वत या पहाड़ आसपास की भूमि से ऊँचा वह भाग होता है जो समुद्रतल से कम से कम 2000 फ़ीट या 600 मीटर ऊँचा हो वहीँ एक पहाड़ी आसपास की भूमि की तुलना में ऊँचा वह भाग होती है जिसकी ऊंचाई 2000 से कम होती है।
  • पर्वत या पहाड़ की ढाल एकदम खड़ी होती है जबकि पहाड़ियों की ढलाने ज्यादा खड़ी नहीं होती है।
Mountains, Canada, Girl, Outlook, Snow
  • पर्वत के सबसे उच्त्तम भाग को शिखर या चोटी कहते हैं। यह नुकीली संरचना होती है। पर्वत चोटियों के अकसर कोई नाम होते हैं। पहाड़ियों में स्पष्ट शिखर का प्रायः अभाव होता है।

  • पर्वतों का निर्माण टेकटोनिक प्लेटों के खिसकने या टकराने से अथवा ज्वालामुखीय विस्फोट से होता है। पहाड़ियों के निर्माण ग्लेशियरों द्वारा जमाव, अपरदन, टूट और विस्फोट द्वारा होता है।




  • पर्वत प्राकृतिक रूप से निर्मित होते हैं जबकि एक पहाड़ी प्राकृतिक और मानव निर्मित दोनों ही हो सकती है।

  • पर्वत अपने भौगोलिक परिस्थितियों की वजह से मानव निवास के लिए उपयुक्त नहीं होते हैं वहीँ पहाड़ियों पर मानव निवास होता है।

  • पर्वतों पर ठन्डे वातावरण में पाए जाने वाली वनस्पतियां और जंतु पाए जाते हैं जैसे चीड़ वृक्ष, पर्वतीय भालू आदि। पहाड़ियों पर आसपास पाए जाने वाले सभी जीवों का निवास होता है। इसी तरह पहाड़ियों पर हर तरह की वनस्पति भी पायी जाती है जो उस वातावरण के उपयुक्त हो।
Mountains And Hills, Tea, The Leaves
  • पर्वतों पर खड़ी ढालों और खास भौगोलिक परिस्थितियों की वजह से खेती करना प्रायः दुर्लभ है किन्तु पहाड़ियों पर कुछ फसलें, चायपत्ती आदि उगाई जाती हैं।

  • दुनियां का सबसे ऊँचा पर्वत हिमालय है और उसकी सबसे ऊँची छोटी माउंट एवेरेस्ट है जो 8848 मीटर ऊँची है। विश्व की सबसे ऊँची पहाड़ी ओक्लाहोमा में स्थित कवानल हिल है जो 1999 फ़ीट ऊँची है।

Conclusion - पहाड़ और पहाड़ियां दोनों ही पृथ्वी के ऊँचे और उभरे हुए भाग होते हैं जिनमे कई समानताएं होते हुए भी दोनों कई अन्य बातों में भिन्न होते हैं।सामान्य बोलचाल में एक पहाड़ को बड़ी पहाड़ी और एक पहाड़ी को एक छोटा पहाड़ भी बोला जाता है। अपनी उत्पत्ति, संरचना,जलवायु और कई अन्य बातों में एक पर्वत या पहाड़ एक पहाड़ी से भिन्न होता है।

दोस्तों, आज की यह जानकारी पहाड़ और पर्वत में क्या अंतर होता है आप लोगों को कैसी लगी?

अगर आप लोगों की आज की पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट और अपने दोस्तों से जरूर शेयर करना उससे कि उनको भी जानकारी मिल सके। 


लेखक-

ऋषि प्रताप सिंह एक स्टूडेंट और ब्लॉगर हैं। ऋषि आरपी सिंह टेक्नोलॉजी नाम से एक ब्लॉग लिखते हैं। इन्हें इंटरनेट, ब्लॉग्गिंग, SEO, सोशल मीडिया, टेक्नोलॉजी आदि विषयों पर लिखना पसंद है। इनके ब्लॉग पर इन विषयों के अतिरिक्त आप कई अन्य विषयों  पर भी रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारियां पा सकते हैं।  








Post a Comment

0 Comments