Visit blogadda.com to discover Indian blogs नट और बोल्ट में कौन नट होता है और कौन बोल्ट : नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?

नट और बोल्ट में कौन नट होता है और कौन बोल्ट : नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?



दोस्तों, आज हम एक बहुत ही सामान्य, बहुत ही सरल परन्तु बहुत ही उपयोगी चीज़ के बारे में चर्चा करेंगे जिसका प्रयोग आम घरों से लेकर बड़ी बड़ी फैक्टरियों, पुलों और मशीनों में किया जाता है। जी हाँ दोस्तों, आपने सही जाना, आज हम नट और बोल्ट के बारे चर्चा करेंगे। नट और बोल्ट की चर्चा करने की वजह उसका बहुत ही काम की चीज़ होना तो है ही , उनके नामों में कन्फ्यूजन होना भी है। अकसर हम नट और बोल्ट में कंफ्यूज हो जाते हैं। नट और बोल्ट में कौन नट है और कौन बोल्ट, लोग अकसर बता नहीं पाते। आज हम इन्ही सवालों का जवाब ढूंढेगे जैसे कि नट क्या है, बोल्ट किसे कहते हैं, नट के प्रकार, बोल्ट के प्रकार, नट और बोल्ट में क्या अंतर है आदि साथ ही नट और बोल्ट में कौन नट होता है और कौन बोल्ट। 

नट और बोल्ट क्या हैं

नट और बोल्ट एक बहुत ही सरल किन्तु उपयोगी युक्ति होती है जो किन्हीं दो चीज़ों को अस्थाई या स्थाई रूप से जोड़ने के लिए प्रयोग में लायी जाती है। यह अकसर उन चीज़ों को जोड़ने के काम में आता है जो वाइब्रेशन करती हों। ये धातु की बनी होती हैं जिसमे चूड़ी बनी होती है। इन्हीं चूड़ियों के मध्य उत्पन्न फ्रिक्शन इन्हें आपस में जोड़े रखता है।

नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?



नट

नट किसे कहते हैं What is Nut in Hindi

नट की विशेषताएं

नट के प्रकार

नट किसे कहते हैं What is Nut in Hindi

नट वास्तव में बोल्ट का ही एक भाग होता है और बोल्ट के साथ मिलकर किन्हीं दो चीज़ों को जोड़ने के काम आता है। नट की संरचना की बात की जाए तो यह धातु की हेक्सागोनल, चौकोर और अन्य कई शेप में होती है। इनके बीच में एक गोल छिद्र होता है और इस छिद्र में अंदर की तरफ थ्रेड बने होते हैं। बोल्ट इसी होल में जाता है और बोल्ट के थ्रेड नट के थ्रेड में जाकर बैठ जाते हैं और इनके बीच एक मजबूत फ्रिक्शन उत्पन्न होता है जो दोनों वस्तुओं को एक साथ जोड़े रखता है।

नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?



नट की विशेषताएं

  • नट बोल्ट की तुलना में छोटे होते हैं।
  • ये अलग तरह के मैकेनिज्म के साथ होते हैं जिससे वाइब्रेशन करने वाली चीज़ों को भी यह जोड़ कर रखता है।
  • नट ज्यादातर एक गोलाकार क्रॉस-सेक्शन वाले होते हैं।
  • नट में आंतरिक धागे होते हैं ताकि इसे बोल्ट पर आसानी से कस दिया जा सके।
  • हेक्सागोनल या चौकोर होने की वजह से इसे रिंच आदि से आसानी से कसा जा सकता है।

नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?


नट के प्रकार

विभिन्न प्रकार के नट्स हैं- हेक्स नट, बैरल नट,नायलॉन इंसर्ट लॉक नट, जैम नट, नायलॉन इंसर्ट जैम लॉक नट, स्क्वायर नट, कैप नट, एकोर्न नट, टी-नट, केप नट, कैसल नट, विंग नट, फ्लैंज नट, स्लॉटेड नट, कपलिंग नट आदि।


बोल्ट

बोल्ट क्या है  What is Bolt in Hindi 
बोल्ट के भाग
बोल्ट की विशेषताएं
बोल्ट के प्रकार
नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?

नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?



बोल्ट क्या है?

बोल्ट धातु का बना एक लम्बा छड़नुमा डिवाइस होता है जिसकी सहायता से दो चीजों को आपस में मजबूती से जोड़ा जाता है अथवा इसकी सहायता से किसी एक चीज़ को दूसरी पर कसा जाता है। बोल्ट का एक हिस्सा बड़ा और चौड़ा होता है जबकि लम्बा रॉड वाला हिस्सा थ्रेडेड होता है अर्थात इस भाग पर चूड़ियां बनी होती हैं। बोल्ट प्रायः माइल्ड स्टील का बना होता है पर कभी कभी तांबा, पीतल, एल्युमीनियम, स्टेनलेस स्टील, हाई स्पीड स्टील, लीलोन आदि धातुओं और मिश्र धातुओं से भी बनाए जाते हैं। बोल्ट एक अस्थाई फास्टेनर होता है जिसे जब चाहे खोलकर अलग किया जा सकता है।


नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?



बोल्ट के भाग

एक बोल्ट में निम्न भाग होते हैं

Head

Shank / body

Thread

Nut



बोल्ट की विशेषताएं

  • बोल्ट का आकार बेलनाकार होता है। ठोस बेलनाकार भाग को लेग कहते हैं।

  • बोल्ट को पूरी तरह से या फिर आंशिक रूप से पिरोया जाता है।

  • बोल्ट के हेड में बोल्ट को नचाने या कसने की जगह बनी होती है।

  • बोल्ट तन्यता बलों का अनुभव करते हैं। इसी तन्यता की वजह से कभी कभी ये मिस हो जाते हैं।


बोल्ट के प्रकार

विभिन्न प्रकार के बोल्ट हैं एंकर बोल्ट, कैरिज बोल्ट, लिफ्ट बोल्ट, निकला हुआ किनारा बोल्ट, हैंगर बोल्ट, हेक्सागोन बोल्ट / टैप बोल्ट, लैग बोल्ट, मशीन बोल्ट, हल बोल्ट, सेक्स बोल्ट, शोल्डर बोल्ट, स्क्वायर हेड बोल्ट, स्टड बोल्ट, टिम्बर बोल्ट, टी-हेड बोल्ट, टॉगल बोल्ट, यू-बोल्ट, जे-बोल्ट, आई बोल्ट, आदि।

नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?



नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?


  • नट एक प्रकार का फास्टनर है जो हमेशा बोल्ट के साथ प्रयोग किया जाता है जबकि बोल्ट एक ठोस बेलनाकार फास्टेनर है जो बोल्ट के साथ प्रयोग किया जाता है।

  • नट अंदर से खोखला होता है जबकि बोल्ट ठोस होता है।

  • नट बोल्ट की अपेक्षा छोटा होता है।

  • नट गोल मोटी रिंग या टायर की तरह दीखता है जबकि बोल्ट बेलनाकार छड़ की तरह होता है।


  • नट में अंदर की ओर थ्रेड होता है जबकि बोल्ट में थ्रेड बाहर की तरफ होता है।

  • नट में अंदर पुरे भाग में चूड़ी या थ्रेड होता है जबकि बोल्ट में पुरे भाग या फिर आधे भाग में चूड़ियां होती है।

  • नट में हेड नहीं होता जबकि बोल्ट में हेड होता है जिसकी सहायता से उसे कसा जाता है।


नट और बोल्ट में कौन नट होता है और कौन बोल्ट ?

नट और बोल्ट दो चीज़ों को जोड़ने की सरलतम युक्ति है जिसमे छोटे रिंग की तरह के भाग को नट जबकि लम्बे छड़ की तरह के भाग को बोल्ट कहते हैं। किन्हीं दो चीजों को जोड़ने के लिए दोनों नट और बोल्ट का होना जरुरी है अन्यथा ये किसी काम के नहीं होंगे। नट के अंदरूनी भाग में थ्रेड बना होता है जबकि बोल्ट के बाहरी भाग मे थ्रेड होता है।

नट और बोल्ट में क्या अंतर है ?



Ref :

https://www.mechanicalwala.in/difference-between-nuts-and-bolts-in-hindi/
mechanicalmagraj.com/बोल्ट-क्या-है-बोल्ट-के-प्र/
https://iticourse.com/nut-kya-hai/
http://examtheory.com/types-of-nut/

https://en.wikipedia.org/wiki/Nut_(hardware)

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ